यहां के स्कूल में पहुंचते ही बच्चों को थमा दी जाती है झाड़ू

मैनपुरीः प्रदेश की योगी सरकार भले ही नौनिहलों को पढ़ाने के लिए अथक प्रयास कर रही है। इसके लिए सरकार ने एक नारा भी दिया है-पढे़गा इंडिया तो बढ़ेगा इंडिया। लेकिन मैनपुरी जिले में बच्चों को शिक्षा देने के बजाय स्कूलों में उनसे काम लिया जा रहा है।

यहां के प्राथमिक विद्यालय में बच्चों के पहुंचते ही उनके हाथों में झाड़ू थमा दी जाती है। बच्चों के हाथों में कापी किताब होने के बजाय झाड़ू होती है। मास्टरजी के डर से बच्चों ने स्कूल में इसकी शिकायत नहीं की लेकिन जब बच्चों ने अपने माता-पिता को यह बात बताई तो उन्होंने स्कूल में शिकायत दर्ज कराई। स्कूल प्रबंधन पर शिकायतों का कुछ भी असर नहीं हुआ।

-पूरा मामला है जनपद मैनपुरी के प्राथमिक विद्यालय दलीपपुर कैलई का है। यहां विद्यालय के अध्यापक व स्टाफ की ऐसी मनमानी करते हैं कि शिक्षा का पूरा उद्देश्य ही बदल जाता है। बच्चों से ही स्कूल परिसर में बच्चो से झाड़ू लगवाई जाती है। साफ सफाई करवाई जाती है।

-हकीकत जानने के लिए टीम पहुंची तो बच्चे विद्यालय में झाड़ू लगाते नजर आए। स्कूल के प्रिंसिपल और प्रबंधन से बात की गई तो उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी के स्वच्छ भारत मिशन का हवाला देकर बच्चों को अभी से स्वच्छता के प्रति जागरूक करने की बात कही।

-पूरा मामला जब बीएसए के संज्ञान में लाया गया तो बीएसए विजय कुमार ने पूरे मामले की जांच कर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई का आश्वासन दिया।