अफवाहों के बीच सामने आए राहुल,कहा-'मैं जिंदा हूं और जिस दिन हिंसा हुई उस दिन मैं कासगंज में ही नहीं था'

कासगंज. यूपी के कासगंज में गणतंत्र दिवस के मौके पर भड़की हिंसा को लेकर बड़ा खुलासा हुआ है। ये खुलासा किसी और ने नहीं बल्कि खुद राहुल उपाध्याय ने किया है। बता दें कि कासगंज में हिंसा के दौरान चंदन गुप्ता की मौत हो गई थी। उस समय खबरें आ रही थी कि इस हिंसा में राहुल उपाध्याय नाम का एक और शख्स घायल हुआ है और वह अस्पताल में भर्ती है। इसके बाद राहुल को लेकर सोशल मीडिया पर अफवाहें फैलाई जा रही थी कि इलाज के दौरान राहुल की मौत हो गई है। लोग उन्हें श्रद्धांजलि भी दे रहे थे। आगरा के भाजपा जिलाध्यक्ष ने तो उन्हें श्रद्धांजलि देते हुए फोटो भी पोस्ट किया था। 

-इन अफवाहों के बीच मंगलवार को राहुल उपाध्याय मीडिया के सामने आए और उन्होंने कहा कि उनके एक दोस्त ने उन्हें फोन कर सोशल मीडिया पर फैलाई जा रही अफवाहों के बारे में जानकारी दी। 

-राहुल ने कहा कि सोशल मीडिया पर मुझे मरा हुआ दिखाया जा रहा है। लेकिन जिस समय कासगंज में हिंसा हुई। उस दौरान वह वहां कासगंज में ही नहीं थे। 

-उन्होंने कहा कि मैं तो अपने गांव गया था और मैं बिल्कुल ठीक हूं।