प्रवासी भारतीय रत्न अवार्ड दिया गया बीजेपी राष्ट्रीय परिषद की सदस्य के डाॅक्टर बेटे को

फर्रुखाबादः इस वर्ष के प्रवासी भारतीय रत्न अवार्ड के लिए कैलिफोर्निया में कार्यरत डाक्टर अंकित सरीन को चुना गया है। इस अवार्ड के लिए 36 लोगों ने आवेदन किया था लेकिन राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार अप्रवासी भारतीय मंत्रालय की अध्यक्षता वाली समिति ने फर्रुखाबाद के मूल निवासी डा. अंकित सरीन के नाम का चयन किया है।

भाजपा राष्ट्रीय परिषद की सदस्य और प्रमुख समाजसेवी डा. रजनी सरीन के पुत्र डा. अंकित सरीन पिछले 11 सालों से अमेरिका में हैं।  वह कर्नल और रेक्टर सर्जरी के विशेषज्ञ हैं। डाॅ. अंकित सरीन को यह अवार्ड 21 और 22  फरवरी को राजधानी लखनऊ में हो रही इन्वेस्टर्स मीट में दूसरे दिन प्रदान किया जाएगा। 

यूपी सरकार का प्रवासी रत्न अवार्ड 2018 कैलिफोर्निया में काम कर रहे डा. अंकित सरीन को दिया जाएगा। 1978 में फर्रुखाबाद के लोहाई रोड स्थित मकान में जन्मे डा. अंकित सरीन की पढ़ाई- लिखे शेरवुड कालेज नैनीताल में हुई। इसके बाद उन्होंने मणिपाल के कस्तूरबा मेडिकल कालेज से एमबीबीएस की डिग्री प्राप्त की और वहीं से अमेरिका चले गए। अंकित सरीन के परिवार में पत्नी और दो बेटियां हैं।

तीन भाई बहनों में अंकित सबसे बड़े हैं। बड़ी बहन डा. पायल सरीन कैलिफोर्निया में और छोटी डा. कोयल सरीन लन्दन में चिकित्सक है। पिता डा. बीएन सरीन का देहांत हो चुका है। मां डा. रजनी सरीन प्रमुख चिकित्सक हैं और भाजपा के उच्च पदों पर रही हैं। 

डा. रजनी सरीन ने बताया कि निर्धारित प्रक्रिया के तहत इस सम्मान के लिए 36 लोगों ने आवेदन किया था। इनमें से उनके बेटे डा. अंकित सरीन का चयन हुआ है। इस बारे में अप्रवासी भारतीय मंत्रालय के अतिरिक्त मुख्य सचिव आलोक सिन्हा का पत्र मिलने के बाद परिवार में खुशी का माहौल है।