एक स्कूल जहां बच्चों से टाॅयलेट की सफाई कराई जाती है, मामला सामने आने पर प्रिंसिपल घबराईं

मुजफ्फरनगर. देशभर में भले ही सरकार सर्व शिक्षा अभियान के नाम पर करोड़ों रुपए पानी की तरह बहा रही हो मगर शिक्षा विभाग के अधिकारी, जिन्हें गुरु का दर्जा दिया गया है, वो ही इस अभियान की हवा निकालने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ रहे हैं।
 
ताजा मामला जनपद मुजफ्फरनगर के थाना शाहपुर क्षेत्र के गांव चांदपुर तगान का है जहां प्राथमिक विद्यालय के शिक्षक ही बच्चों से शौचालय साफ कराते नजर आ रहे हैं।
 
विद्यालय की प्रधानाध्यापिका से इस बारे में जब बातचीत करने का प्रयास किया गया तो उन्होंने कैमरे में बोलने से साफ मना कर दिया।
 
दरअसल मामला थाना शाहपुर क्षेत्र के गांव चांदपुर तगान का है जहां के प्राथमिक विद्यालय में गुरुवार को विद्यालय की प्रधानाध्यापिका रूबी द्वारा विद्यालय के बच्चों से शौचालय साफ कराया जा रहा था। 
 
इसी बीच वहां से कुछ मीडिया कर्मी निकल रहे थे तो उन्होंने बच्चों के शौचालय साफ करने का वीडियो बनाना शुरू कर दिया जिसमें  वीडियो बनता देख बच्चे कैमरे के सामने से भागने लगे।
 
इसके बाद प्रधानाध्यापिका भी वहां आ गईं और बच्चों से पूछने लगी तुम्हें किसने लगाया है।
 
इसमें बच्चे डर की वजह से कोई जवाब नहीं दे पाये जब प्रधानाध्यापिका से इस बारे में पूछना चाहा तो इधर उधर की बातें करने लगीं  कैमरे के सामने बोलने से साफ मना कर दिया।
 
इस मामले में जब बेसिक शिक्षा अधिकारी चंद्रकेश यादव से बात की गई तो उन्होंने एबीएसए बुढाना को पूरे मामले की जांच कर अग्रिम कार्रवाई करने के आदेश जारी किए हैं।  बेसिक शिक्षा अधिकारी चंद्रकेश यादव का कहना है कि मामले में जांच के बाद जो भी तथ्य सामने आएंगे उसी आधार पर कार्यवाही की जाएगी।