अयोध्या:रामलला के मुख्य पुजारी का आरोप- दानपात्र से गायब हुए करोड़ों रुपए के आभूषण

लखनऊ. अयोध्या रामलला के मुख्य पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास ने रामलला के दानपात्र में करोड़ों के घोटाले का आरोप लगाया है। इस आरोप के बाद जिला प्रशासन में हड़कंप मच गया है। मुख्य पुजारी ने कमिश्नर के कार्यालय में तैनात अधिकारी बसंत लाल मौर्या पर गंभीर आरोप लगाया है। पुजारी ने कहा है कि रामलला के दानपात्र में आने वाले करोड़ों के आभूषण को गायब कर दिया गया है। आरोप है कि सन 2000 के बाद अभिलेखों में आभूषण का कोई उल्लेख नहीं किया गया है।

-दरअसल, फैजाबाद कमिश्नर ही राम लला के रिसीवर है।ऐसे में इस आरोप के बाद कमिश्नर दफ्तर में हड़कंप मच गया है। मुख्य पुजारी का आरोप बेहद संगीन है।

-आरोप है कि रामलला के दानपात्र से करोड़ों के दान में आए आभूषण गायब कर दिए गए हैं। 

-आरोप है कि सन 2000 के बाद अभिलेखों में दान के आभूषण का कोई उल्लेख नहीं किया गया है। 

-मुख्य पुजारी ने आरोप लगाया कि अधिकारी बसंत लाल मौर्या राम लला के दान पात्र से घोटाले कर करोड़ों की संपत्ति का मालिक बन बैठा है। 

-मुख्य पुजारी ने इसकी शिकायत सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से भी की है।

-मुख्य पुजारी ने आरोप लगाते हुए भी कहा कि जब इसकी शिकायत रिसीवर यानी कमिश्नर से की जाती है तो सब चुप हो जाते हैं। मुख्यमंत्री से शिकायत करते हुए मुख्य पुजारी ने इस घोटाले की जांच की मांग भी की है।

- इस मामले को लेकर जब रिसीवर मंडलायुक्त से संपर्क किया गया तो उनका फोन नहीं रिसीव हुआ।